Hindi Adult Story : भाई ने जबरदस्ती मेरी गांड में अपना मोटा लंड डाल दिया

0
38

हेल्लो आई ऍम वंदना फ्रॉम डेल्ही | आज मै आपको अपनी सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ इसे पढ़ कर आपका मन मुझे चोदने को ललचा उठेगा आपका लंड घोड़े की तरह उफान मारने लगेगा और मेरी बहने पढेगी तो उनकी चूत में कुछ लेने का मन करेगा | तो चलिए ज्यादा समय न लेते हुए अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये मेरी सच्ची कहानी तब की है जब मै डेल्ही में रूम लेकर पढाई करती थी | मेरे मम्मी पापा गाव में रहते है | मेरे बड़े भाई जिनकी अभी शादी नहीं हुयी है मुंबई में रहकर नौकरी करते है | ओह्ह मै अपना फिगर बताना तो भूल ही गयी | मेरा फिगर ३४-३०-३६ का है मस्त है ना तो हु भी वैसी ही जो एक बार देख ले उसका लंड उफान मरने लगता है | जैसा की मैंने बताया मै डेल्ही में अकेली रूम लेकर रहती हूँ | मेरा एक बॉयफ्रेंड भी है तो मेरा जूनियर है | जब मेरा मन करता है उसे रूम पर बुला लेती हु और हम खूब मजे करते है | मज़ा का मतलब आप तो समझ ही गये होंगे |

तो हुआ कुछ यु की एक दिन भैया ने मुझे कॉल किया वंदना मै डेल्ही आ रहा हूँ मेरी कुछ ऑफिस की जरुरी मीटिंग है मै खुश हो गयी मै बोली कब आ रहे हो भैया | तो भैया ने कन्फर्म नहीं बताया बोले अभी कुछ ठीक नहीं देखता हूँ जब आऊंगा तो बताता हूँ शायद अगले वीक में मै बोली ओके चलेगा आप आओ और भैया ने कुछ पढाई के बारे में पूछा और फिर फोन रख दिया |

२ -३ दिन बीत गया एक दिन मेरी चूत में इतनी तेज खुजली होने लगी की मैंने २ बार अपने बॉयफ्रेंड से बात करते हुए फिंगरिंग भी की पर फिर भी मेरी चूत में खुजली मिटने का नाम भी नहीं ले रही थी मैंने अपने बॉयफ्रेंड को बोला बेबी आ जाओ ना रात को मुझसे नहीं रहा जा रहा है |

वो बोला ठीक है शाम को आता हु शाम को मेरा बॉयफ्रेंड आ गया और साथ में २ बियर की बोतल भी लाया उसके रूम में घुसते ही पहले तो मैंने उसे बेड पर पटक दिया और मै उसके लंड को खोल कर मुह में लेकर चूसने लगी और थोड़ी देर में उसका लंड टाइट हो गया अब मैंने अपनी चूत को उसके मुह पर रख दिया हम ६९ की पोजीशन में आकर ओरल सेक्स करने लगे वो मेरी चूत में जब जीभ को क्लिट पर घुमा कर अन्दर डालता तो मेरे शारीर के रोम रोम खिल उठते मै एकदम मदहोश हो चुकी थी और चुदाई के नशे में मैंने दरवाजा लॉक करना भूल गयी |

और फिर मै उसके लंड को अपनी चूत में डाल कर खूब जोर से झटके मारने लगी वो भी निचे से झटके देने लगा हमने करीब १५ मिनट तक चुदाई की इतने में मेरी चूत ने ४ बार पानी छोड़ा अब मै पाचवी बार झड़ने वाली थी की अजय ने बोला बेबी मेरा भी होने वाला है अब मुझसे नहीं रहा गया वो मेरी चूत में नहीं गिराना चाहता था पर मै चाहती थी की वो मेरी चूत को पाने रस से नहला दे और मै भी झड़ने वाली थी मै बोली बेबी अन्दर ही डाल दो भर तो अपने रस से मेरी चूत को और मै उसे कस कर पकड़ ली और हम दोनों का एक साथ हो गया | आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |

हम दोनों एसे ही लेते रहे तबतक एसा लगा जैसे मेरे रूम के किचन में कोई है मै नंगी ही चली गयी देखने किचन में देखते ही मेरी आखे बंद हो गयी वह बड़े भैया खड़े चाय बना रहे थे | मै दौड़ कर बेडरूम में आई और अजय को बोली जल्दी से कपडे पहनो और निकलो भैया आ गये है |

भाई ने जबरदस्ती मेरी गांड में अपना मोटा लंड डाल दिया

अभी तो पूरी रात बाकी थी बियर की बोतल भी फ्रिज में भी मेरे मन ढेर सारी बाते चलने लगी | मेरी धड़कने तेज तेज चलने लगी की अब क्या होगा और हम दोनों ने जल्दी से कपडे पहने और मै किचन में आकर भैया से बोली ऊह्ह भैया आप आ गये अपने कॉल भी नही किया मेरे मुह पर शरमाहट थी भैया बोले हां वो इमरजेंसी में आना था तो आ गया और इतने में मेरा बॉयफ्रेंड घर से निकल कर चला गया अब उसके जाने के बाद दरवाजे से आवाज आई मै समझ गयी की अजय चला गया | तो जान में कुछ जान आई अभी भी भैया से मै डर रही थी की भैया ने देखा या नही क्योकि भैया कुछ एसा एक्सप्रेशन दे रहे थे जैसे उन्होंने कुछ देखा ही नहीं | अब रात के ७ बज गये मैंने खाना बनाया और हम दोनों भाई बहन खाना खाने लगे मैंने पानी का बोतल लेना भूल गयी और भैया को हिचकी आने लगी तो भैया उठ कर किचन में जाकर पानी के जगह बियर ले आये और मै shoked थी भैया ने एक बोतल मेरी तरफ बढ़ा दिया मै बोली नहीं मै नहीं पीती तो बोले तो किसके लिए रखा था चलो पी लो कोई बात नहीं मै फिर चुपचाप पिने लगी और भैया से पहले ही बियर की बोतल खाली कर दी अब मै नशे में थी मेरा डर निकल चूका था एसा लग रहा था अगर भाई ने देखा भी होगा तो क्या करेंगे वो तो सभी करते है शायद भैया भी करते होंगे | थोड़ी देर में खाना खाने के बाद भैया बोले चलो अब सोते है मै जाकर अपने बेडरूम में लाइट बंद कर लेट गयी | तभी एसा लगा की कोई आया और लाइट को ओंन कर दिया मैंने जब सर ऊपर करके देखा तो भैया बिना कुछ पहने ७ इंच का ४ इंच मोटा लंड लिए सामने खड़े थे |

मै डर गयी | मेरे मुह से निकला भैया ये क्या | इतने में भैया बोले साली दुसरे लौंडो को बुलाकर मजे लेती है और चल अब मेरा भी लंड खा ले बन जा भाईचोद और उन्होंने मेरी सलवार का नाडा खोल दिया मैंने भी कुछ नहीं बोली अब मैंने खुद से अपनी पैंटी निकल दी | और मेरे मन में गुदगुदी होने लगी हो भी क्यों न भाई का मेरे लंड तो इतना मोटा लम्बा था |

मै अन्दर ही अन्दर बहुत खुश हो गयी और उधर बियर का नशा भी था तो मस्त मज़ा आने लगा मेरे भाई ने मेरे दोनों बूब्स अपने मुह में भर लिया और एक हाथ मेरी चूत की क्लिट पर लगाकर रगड़ने लगे मै मज़े लेने लगी १० मिनट तक भाई एसे ही करता रहा अब मुझसे नहीं रहा जा रहा था मैंने बोला भाई अब जल्दी से डाल दो मेरी चूत में खुजली हो रही है | भाई के मुह से गालिया निकलने लगी रुक साली इतनी जल्दी क्या पूरी रात बाकी आराम से चुद फिर क्या मुझे बेड पर उल्टा लिटा दिया और पीछे से भाई ने जबरदस्ती मेरी गांड में अपना मोटा लंड डाल दिया |

भाई ने लंड के साथ साथ अपनी अंगुलिया भी डाल दिया

पहली बार किसी ने मेरी गांड में लंड डाला था मेरे मुह से तेज आवाज आने वाली थी की भाई ने मेरे मुह पर अपना हाथ रख दिया और डायरेक्ट मेरी गांड में अपना ७ इंच लम्बा लंड पूरा अन्दर तक पेल लिया मै तिलमिला के रह गयी थोड़े देर तक एसे ही अन्दर रखा फिर धीरे धीरे धक्के मारने लगे अब मेरा दर्द कम हो गया था थोड़ी थोड़ी गुदगुदी जैसी होने लगी अब मुझसे नहीं रहा जा रहा था | आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |  मैंने बोला भाई मेरी चूत में अपनी अंगुली भी डालो भाई समझ गये और मुझे अपने ऊपर कर लिया मै भाई के लंड को अपनी गांड में लेकर ऊपर बैठ गयी और धीरे धीरे धक्के मारने लगी और भाई ने आगे से अपनी तीन अंगुलिया मेरी चूत में भी ठूस दिया अब मुझे इतना मज़ा आने लगा की मै उस पल को बया नहीं कर सकती जो मेरी बहने मेरी स्टोरी पढ़ रही होगी वो समझ गयी होगी | हम दोनों २० मिनट तक एसे ही चुदाई करते रहे और फिर भाई ने अपना पूरा रस मेरी गांड में ही डाल दिया और मेरी चूत से पानी भी निकल गया अब मै तो बेड पर लेट गयी पर भाई का लंड झड़ने के बाद भी खड़ा ही था उसने फिर मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मै तिलमिला उठी क्योकि मेरे बॉयफ्रेंड का लंड मेरे भाई के लंड का आधा था अभी भी मेरी चूत की साइज़ बड़ी नहीं हुयी थी और भैया मेरी चूत में धक्के पर धक्का मारने लगे अब भाई ने लगातार ४० मिनट तक धक्के मारता रहा मै दसो बार झड़ चुकी थी आखिर में जब भाई का होने वाला था तो भाई ने फिर से मुझे कस के पकड़ लिया और मेरी चूत में ही सारा माल गिरा दिया अब हम दोनों थक गये थे मैंने भाई को बोला भाई अब बस भी करो | तो भैया ने बोला नहीं आज मै तेरी इतनी चुदाई करूँगा की आगे से किसी और का लंड ना लेने की कोशिश करे | मै बोली भाई आराम से चोदो जल्दी क्या फिर क्या भाई ने उस रात मेरी १० बार से भी ज्यादा चुदाई की हम पूरी रात नहीं सोये बस चुदाई चलती रही कभी गांड में तो कभी चूत में हर बार भाई अपना रस मेरी चूत या गांड में उड़ेल देता था और बोलता था की एक का तो अन्दर ही गिरवा लिया अब मेरा लेने में क्या दिक्कत है फिर मैंने पूछ लिया क्या अपने हमें चुदाई करते हुए देख लिया था क्या भाई बोले हां तो मै सोचा क्यों डिस्टर्ब करू कर लो फिर मेरा नंबर तो आने ही वाला है | अब मै अपने भाई को चूम ली और सुबह जब उठी तो देखा बेड पर खून गिरा है और भाई नंगे ही सो रहे है मै बोथूम गयी और नहाई मेरी चूत और गांड में हल्का हल्का दर्द हो रहा था फिर चाय बनायीं और भैया को उठाकर चाय पिलाई और फिर भाई ने नहा कर मार्किट से दर्द की दवा लाकर दी और फिर हम एक बार चुदाई करके सुबह ११ बजे सो गये और शाम को उठे फिर खाना बनकर हम दोनों भाई बहन ने खाया इतने में अब तक मेरे बॉयफ्रेंड का कोई भी कॉल नहीं आया | फिर हमने खाना खाकर फिर पूरी रात चुदाई की एसे ही ३ दिन तक चलता रहा | फिर चौथे दिन भैया बोले तू उस दिन वाले लड़के भी बुला ले ना मै कुछ नहीं समझी क्यों मै डर गयी की कही मारने न लगे मैंने पूछा क्यों तो बोले आज ग्रुप में चुदाई करने की इच्छा हो रही है मेरे मन में तो लड्डू फूटे काश एसा हो जाता फिर क्या मैंने भैया के सामने ही अपने बॉयफ्रेंड को कॉल लगायी और उसने कई रिंग होने के बाद कॉल रिसीव किया और डरते हुए बोला हेल्लो ..

मै बोली बेबी डरो नहीं भैया ने कुछ नहीं देखा था वो मुझे इतना सुनते ही फ़ोन पर किस करने लगा और बोला बेबी मै तो डर गया था कही कुछ हो ना जाए मै बोली एक काम करो भैया अब चले गये तुम आज शाम को बियर लेकर आ जाओ आज हम खूब मजे करेंगे |

अब मेरी आगे की चुदाई की स्टोरी अगली स्टोरी में लिखुगी तब तक अगर आपको मेरी सच्ची कहानी पसंद आई हो तो अपने कमेंट देना ना भूलना अपनी और आपकी चुदक्कड़ वंदना |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here